2023 में फिर इतिहास दोहराएगा या दबलते समय में बदलेगा राजनीतिक समीकरण और बन जायेगा इतिहास

Sep 11, 2023 - 16:52
 0  132
2023 में फिर इतिहास दोहराएगा या दबलते समय में बदलेगा राजनीतिक समीकरण और बन जायेगा इतिहास

साल 2003 कामदा जोल्हे से पद्मा मनहर से केरा बाई मनहर के बाद उत्तरी जांगड़े अब कौन क्या ? 2023 फिर इतिहास दोहराएगा या दबलते समय में बदलेगा समीकरण और फिर बन जायेगा इतिहास ....कांग्रेस में अरुण मालाकार सारंगढ़ के राजनीतिक चाणक्य ..भाजपा से अरविंद खटकर हैं सबसे प्रबल दावेदार इनके साथ है ...

सारंगढ़ । रायगढ़ जिले का एक अभिन्न विधान सभा सारंगढ़ जो अब नए जिले के रूप में अस्तित्व आ चुका है अब इसका अपना अलग इतिहास बनेगा सारंगढ़ बिलाईगढ़ जिले का मुख्यालय सारंगढ़ विधान सभा प्रदेश का एक सुर्खियों में रहने वाला और इतिहास गढ़ने वाला विधान सभा रहा है। यहां की मतदाता का निर्णय हमेशा चौंकाने वाला होता है। सारंगढ़ के हालिया कुछ चुनावों के परिणाम के आधार पर बात करें तो साल 2003 के चुनाव से परिदृश्य पर नजर डालें तो इस साल कामदा जोल्हे 2008 में पद्मा मनहर से साल 2013 में केरा बाई मनहर के बाद उत्तरी जांगड़े यहां की विधायक बनी और विधायक बनते ही बहुप्रतीक्षित जिला बनाने की मांग को पूरा करवाकर जिले की सौगात दिया। भले ही इसे लेकर कई तरह के राजनीतिक समीकरण बने लेकिन यह भी मान्य होना चाहिए जिला के नाम पर होने वाली राजनीतिक परिदृश्य का पटाक्षेप हो गया और जिला बन गया इसके बाद जिले को कई बुनियादी सुविधाओं की भी आधार शिला रखी गई शिक्षा के क्षेत्र में भी उन्होंने बेहतर प्रयास किया है जितना की इसके पूर्ववर्ती के कार्यकाल में नहीं हुए। वर्तमान में सारंगढ़ जिला अभी अपने शैश्वावस्था में है और इसे अभी प्रचुर मात्रा में खाद पानी की जरूरत है। 

कांग्रेस में वर्तमान विधायक उत्तरी जांगड़े के साथ गणपत जांगड़े, पद्मा मनहर, घनश्याम मनहर, जिला पंचायत सदस्य तुलसी विजय बसंत, जिला पंचायत सदस्य विलास सारथी, सरिता मल्होत्रा, जिला पंचायत सदस्य अनिका भारद्वाज, विनोद भारद्वाज, सखाराम मल्होत्रा, जनपद सदस्य उज्जवल मिरी, जगदीश अजगल्ले, मंजुलता आनंद, घासीराम अजय, शिव चरण कुर्रे, शंकर चौहान, रामदयाल कुर्रे, सुभाष चंद्र चौहान, सुश्री लता कुर्रे दौड़ में शामिल हैं। फिलहाल कांग्रेस प्रत्याशी चयन को लेकर उहापोह बनी हुई है और सारंगढ़ में भावी उम्मीदवार घात लगाए बैठे हैं। कांग्रेस में एक बढ़कर एक प्रत्याशी मैदान में है यहां प्रत्याशी बनने तीन जोड़ा पति पत्नी का है। लेकिन गुंजाइश ज्यादातर उत्तरी गणपत जांगड़े की है इनका बतौर कांग्रेस विधायक रिपोर्ट का प्रदर्शन अच्छा माना जाता है। इसलिए इनका टिकट कटना मुमकिन प्रतीत नहीं होता है। 

फिलहाल सारंगढ़ का सियासी पारा सर चढ़ कर बोल रहा है यहां की राजनीतिक इतिहास है 2003 से लेकर अब तक महिला उम्मीदवार ही राजनीति के उच्च शिखर पर नाम अंकित करवा रही हैं। सारंगढ़ की सियासत पर एक नजर डालें तो जो सर्व विदित है हर वर्ष पार्टी और चेहरा बदल जाता है तो इस आसन्न विधान सभा चुनाव में भी होगा या फिर कांग्रेस की प्रत्याशी उत्तरी जांगड़े टिकिट प्राप्त करने के बाद चली आ रही मिथक को वायदों को पूरा करने का प्रतिसाद मतदाताओं से हासिल करने में सफल होंगी। उनकी सफलता का यह पूरा दारोमदार सारंगढ़ कांग्रेस के सियासी चाणक्य अरुण मालाकार पर आकर आश्रित हो जाती है। हालांकि यहां पर भी उनके विरोधी पक्ष हर एक कमी को लपकने मुस्तैद भी हैं जो उनके खिलाफ माहौल बनाने के लिए भी पर्याप्त हैं क्या आने वाले समय में विरोधी गुट को एक छतरी के नीचे लाने का भी अरुण मालाकार के पास कोई तोड़ है। यहां एक बात और बताना लाजमी होगा की क्षेत्र में खरसिया विधायक उमेश पटेल का खासा रसूख भी है जिसका फायदा यहां कांग्रेस में पहले भी दिख चुका है। 

भाजपा की बात करें तो यहां सबसे अग्रिम पंक्ति के दावेदार अरविंद खटकर है जो पिछले महीने खूब सुर्खियों में थे और भयंकर राजनीतिक चंगुल में फंसे और किसी तरह खुद को बचाया। सारंगढ़ में इस तरह की दो घटनाएं खूब सुर्खियां बटोरी और लोग इसे राजनीतिक चटकारा लेकर आनंदित होते रहे। बात सारंगढ़ में भाजपा के लिए यह वर्ष गोल्डन चांस है जो इतिहास के अनुरूप दूसरी पार्टी और विधान सभा का नया चेहरा। सारंगढ़ में इस बार भाजपा का गुनाभाग कुछ और ही बता रहा है इस बार भाजपा सारंगढ़ से महिला की जगह पुरुष प्रत्याशी की खबर अंदर खाने से निकल कर बाहर आ रही है हालाकि पुरुष प्रत्याशी में और भी हैं जिनमें हरिनाथ खूंटे, दीनानाथ खूंटे, और देवेंद्र रात्रे दावेदारी कर रहे हैं वहीं महिला प्रत्याशी में शिवकुमारी चौहान, मीरा जोल्हेे, देवकुमारी जोल्हे है। 

सारंगढ़ बिलाईगढ़ जिले में भाजपा की सियासी समीकरण कुछ ऐसी बन रही है की इस बार भाजपा सारंगढ़ विधान सभा में महिला प्रत्याशी की जगह पुरुष प्रत्याशी का गणित बैठ रहा है। इस लिहाज से तमाम दावेदारों में अरविंद खटकर ही सबसे चर्चित चेहरे नजर आ रहे हैं। अन्य प्रत्याशियों की राजनीतिक परिदृश्य पर नजर डालें तो हरी नाथ और दीनानाथ खूंटे दोनों पूर्व में सरपंच चुनाव लड़ कर हार चुके है यानि क्षेत्र में जनाधार का अंदाजा लगाया जा सकता है। अब अगर दूसरे पुरुष प्रत्याशी देवेंद्र रात्रे की तो इनकी अब तक की राजनीतिक सफर हमेशा सुर्खियों में रहा करता है। 

इनके पिता श्याम सुंदर रात्रे से लेकर तुलसी रात्रे को भाजपा ने हमेशा संरक्षण दिया और जब भी मौका मिला कांग्रेस के साथ हाथ मिला लिया। 2010 -15 की बात करें तो सारंगढ़ जनपद में कांग्रेस से साठगांठ कर तुलसी रात्रे ने उस समय कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई जब एससी खेमे से एक भी महिला प्रत्याशी की जीत नहीं हुई थी। भाजपा नेत्री तुलसी रात्रे अध्यक्ष बनी और यही से साल 2010 में यहां कांग्रेस का गिरता ग्राफ और अरुण मालाकार की राजनीतिक कैरियर को एक बार फिर से पंख लगा और सारंगढ़ की राजनीतिक परिदृश्य में एक बार फिर से अरुण मालाकार राजनीतिक के माहिर खिलाड़ी के रूप में उभरे और साथ ही कई सियासी विरोधी भी पैदा किए। 

इसलिए ज्यादा गुंजाइश ये भी है की भाजपा इस बार यहां रणनीति के तहत किसी पुरुष प्रत्याशी पर दांव लगाने की राह पर चलती दिखाई दे रही है। दावेदारों की फेहरिस्त पर नजर डालें तो भाजपा के तमाम दावेदारों में अरविंद खटकर ही एकमात्र चेहरा दिखाई दे रहे हैं। भाजपा इतिहास को भी बखूबी समझ रही है इसलिए प्रत्याशी चयन में खास तवज्जो दे रही है। सारंगढ़ के दिग्गज भाजपा नेता अजय गोपाल, रामकृष्ण नायक, सुभाष जालान, अमित रिंकू तिवारी जैसे क्षेत्र के दिग्गज नेताओं का अरविंद खटकर को साथ मिला हुआ है ऐसा राजनीतिक गलियारों में चर्चा बनी हुई है। 

अरविंद खटकर यूं तो पूर्व में बसपा से जुड़े हुए थे इसके बाद भी जब भी जरूरत पड़ी किसी अन्य पार्टी की जगह भाजपा के साथ खड़े नजर आए। साल 2015 में भी जिला पंचायत की सरकार बनाने में भाजपा का साथ दिया और जिला पंचायत में भाजपा की पंचवर्षीय सरकार रही। लोक सभा चुनाव के दौरान भाजपा प्रत्याशी का समर्थन किया और क्षेत्र से गोमती साय को जीत दिलाने में भी अहम भूमिका निभाया और कालांतर में पूरी तरह से भाजपा के हो गए थे। इस तमाम राजनीतिक परिदृश्य पर गौर करें तो इस साल अरविंद खटकर को भाजपा बतौर विधान सभा प्रत्याशी बनाकर सहयोग का इनाम दे सकती है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow