नबालिग बच्चे ने रची खुद के अपहरण होने की साजिश पैसे के लालच मे बन बैठा मास्टरमाइंड...

Feb 17, 2024 - 16:09
Feb 17, 2024 - 19:59
 0  44

पुलिस ने इस मामले का तो किया पर्दाफाश पर रिशु कश्यप मामले मे पुलिस के हाथ अब तक हैं खाली.... 

कैपिटल छत्तीसगढ़ न्यूज नेटवर्क 

संवाददाता :- दीपक गुप्ता...✍️

सूरजपुर :- जिले के प्रतापपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बच्चों के अपहरण की आ रही खबरों के बीच बीते शुक्रवार को एक 17 वर्षीय बच्चे ने योजनाबद्ध तरीके से खुद के अपहरण की साजिश रच डाली। हालांकि मामले में परिजनों द्वारा पुलिस को जानकारी दिए जाने के बाद हरकत में आयी पुलिस ने फिरौती मांगने वाले को पकड़ने का जाल बिछाया और थाना प्रभारी ने स्वयं बताये खाता नम्बर पर पांच हजार रूपए हस्तांतरित कर दिए और उक्त मोबाईल नम्बर को साईबर सेल से  ट्रेकिंग पर लगा दिया। जिससे पुलिस को सफलता मिली और खुद के अपहरण की साजिश रचने वाले बच्चे को पकड़ लिया। इस मामले में आक्रोशित नगरवासियों ने सड़क पर उतर टायर जलाते हुए जमकर प्रदर्शन भी किया। गौरतलब है कि प्रतापपुर में पखवाड़े भर पूर्व 10 वर्षीय बालक रिशु कश्यप रहस्मयमय ढंग से लापता हो गया है। जिसकी पतासाजी में पुलिस जुटी हुई, लेकिन पुलिस को आज 18 दिनों का समय गुजर जाने के बाद भी कोई सफलता नहीं मिल सकी है। जिससे परिजन आक्रोशित हैं और पूर्व में उन्होंने थाने का घेराव कर प्रदर्शन भी किया था।  हालांकि पूरा मामला थाने पहुंचने के बाद पुलिस भी एक्शन में आ गई और पूरे नगर सीमा में नाकेबंदी करने के साथ संदिग्ध लोगों की जांच और सीसी टीकी फुटेज भी खंगालने में जुटी रही। लेकिन अब तक इस मामले में भी पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगी। इस हुए संबंध में मिली जानकारी के अनुसार ग्राम टोनी निवासी एक 17 वर्षीय बालक विश्वनाथ रवि घर से प्रतापपुर जाने के नाम से निकला और वापस नहीं लौटा। बहुत देर तक बच्चे के वापस नहीं लौटने से अपहरण की मिल रही लगातार खबरों के बीच परिजन चिंतित होने लगे। इसी बीच परिजनों के मोबाईल पर फोन आया और 50 हजार रूपए फिरौती की मांग करने लगा। जिस परिजन आनन-फानन में थाना पहुंचे और पुलिस को पूरे घटनाक्रम की दी। परिजनों के साथ आक्रोशित नगरवासी भी थाने पहुचे मामले में पुलिस ने सबुत दिखाते सरगुजा जिले सहित सूरजपुर के क्राईम ब्रांच टीम की मदद ली गई और फिरौती की मांग के लिए आये फोन को ट्रैकिंग पर लगा दिया। जब पुनः फिरौती की रकम को लेकर फोन आया तो पुलिस ने मोर्चा संभालते हुए बात किया और पहले थाना प्रभारी किशोर केरकेट्टा ने पांच हजार रूपए उसके खाते में डाले। जिस पर उसके द्वारा पूरे रकम भेजने का दबाव बनाया जाने लगा। पुलिस ने अज्ञात को एक बार में रकम नहीं जाने कई बार में भेजने की बात कही। थाना प्रभारी ने बताया कि अज्ञात के द्वारा बार-बार फोन को बंद, चालू किया जा रहा था, जिसके कारण पुलिस को भी उसे पकड़ पाने मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था ।

पुलिस ने बच्चे को एटीएम में धर दबोचा :- पांच हजार रूपए पुलिस द्वारा डाले जाने के बाद पुलिस को अज्ञात का लोकेशन प्रतापपुर के ही नाके के समीप एटीएम के पास मिला। जिस पर पुलिस मौके पर पहुंची तो उन्होंने उक्त बच्चे को देखा और उससे अज्ञात के संबंध में पूछताछ की। जिस पर बच्चे ने पुलिस के समक्ष यह खुलासा करते हुए जानकारी दी कि उसने स्वयं से अपने परिजनों से पैसे मांगने के लिए अपहरण की साजिश रची थी। जिस पर पुलिस ने बच्चे को तत्काल अपने हिरासत में लेकर थाने ले आयी। जहां से क्राईम ब्रांच की टीम ने बच्चे से अन्य जानकारी जुटाने में लगी रही।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow