शहर की स्लम बस्तियों के रहवासियों को जल्द मिलेंगे सर्व सुविधायुक्त पक्के मकान

कोरबा नगर निगम क्षेत्र की स्लम बस्तियों में रहने वाले लोगों को जल्द ही सर्व सुविधायुक्त पक्के मकान मिल जायेंगे। निगम क्षेत्र के दादर-खरमोरा में ऐसे रहवासियों के लिए दो हजार 784 आवास गृह बनाने का काम 90 प्रतिशत पूरा हो गया है। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज दोपहर खरमोरा पहुंचकर इस निर्माणाधीन कालोनी का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने उपस्थित निगम आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय और अन्य अधिकारियों से कालोनी की निर्माण की पूरी जानकारी ली। उन्होंने इस परिसर में लोगों की सुविधाओं के बारे में भी विस्तार से पूछा। निगम आयुक्त ने बताया कि लगभग 25 एकड़ के कैम्पस में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो हजार 784 फ्लैट बनाये जा रहे हैं। इस परिसर में चौड़ी सड़कों, बड़े तीन गार्डनों सहित कम्युनिटी हाल, व्यवसायिक परिसर और जल उपचार संयंत्र भी बनाया जा रहा है।

इसके साथ ही सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम होंगे। यहां पीने के पानी की आपूर्ति के लिए दो बड़ी टंकिया भी बनाई जा रही है। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर रानू साहू ने कार्य एजेंसी के ठेकेदार से भी जानकारी ली और इस कालोनी का काम जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने आवास गृहों के अंदर जाकर काम की गुणवत्ता भी जांची और बने आवासों में सुविधाओं का जायजा भी लिया। उन्होंने व्यवस्थाओं को और अधिक बेहतर करने, बिजली, पानी आदि के काम को त्वरित रूप से पूरा करने तथा संसाधन बढ़ाकर आवास गृहों का काम जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को भी दिए। कलेक्टर ने निगम आयुक्त को निर्देशित किया कि काम खत्म होने पर इन नये सर्व सुविधायुक्त घरों का आबंटन तत्काल किया जाये। उन्होंने स्लम बस्तियों के रहवासियों की काउंसिलिंग कर समझाईश देकर इन पक्के घरों में रहने के लिए शिफ्ट करने के भी निर्देश दिए।

कलेक्टर पहुंची मुड़ापार के प्रधानमंत्री आवास गृह परिसर, रहवासियों से जानी समस्याएं- आज दोपहर कलेक्टर श्रीमती रानू साहू मुड़ापार स्थित प्रधानमंत्री आवास गृह परिसर पहुंची। उन्होंने यहां रह रहे कुछ लोगों से भी बात की और उनकी समस्याएं जानी। मुड़ापार के प्रधानमंत्री आवास गृह परिसर में वर्तमान में 29 परिवार निवासरत हैं। कलेक्टर ने यहां रहने वाली श्रीमती राजपति देवी से बात की और उनसे पक्के मकान में रहने का अनुभव पूछा। श्रीमती राजपति देवी ने बताया कि मुड़ापार आवास गृह परिसर में आने से पहले वे रामनगर में एक कच्चे झोपड़ीनुमा मकान में रहते थे। सड़क, बिजली, पानी सभी की परेशानी थी। प्रधानमंत्री आवास आबंटन के बाद अब पक्के मकान में रह रहें हैं। श्रीमती राजपति देवी ने बताया कि उनका एक बेटा स्थानीय मारूति वर्कशाप में काम करता है।

कलेक्टर ने आवास गृह परिसर में किसी भी तरह की परेशानी और दिक्कतों की जानकारी भी रहवासियों से ली। रहवासियों ने बताया कि कालोनी में कभी-कभी पानी की समस्या हो जाती है। बोरवेल की मोटर खराब होने से समस्या बढ़ जाती है। इसके साथ ही मोटर का तार भी असमाजिक तत्वों द्वारा काटकर चुरा लिया जाता है। कलेक्टर ने निगम आयुक्त को आवास परिसर में पानी की इस समस्या का स्थायी समाधान करने के निर्देश दिए। श्रीमती साहू ने परिसर की साफ-सफाई करने और खाली पड़े मकानों में भी जल्द से जल्द लोगों को बसाने को कहा।

कोहड़िया के जल शोधन संयंत्र का भी कलेक्टर ने किया निरीक्षण- कलेक्टर साहू ने आज कोहड़िया स्थित जल शोधन संयंत्र का भी निरीक्षण किया। उन्हांेने इस संयंत्र में पानी शुद्धिकरण और शहर के विभिन्न क्षेत्रों में शुद्ध पानी वितरण की पूरी प्रक्रिया उपस्थित अधिकारियों से जानी। कलेक्टर ने 29 एमएलडी क्षमता के इस जल उपचार संयंत्र का निरीक्षण करते हुए इसके समुचित परिचालन और सुरक्षा के लिए जरूरी निर्देश दिए। निगम आयुक्त ने बताया कि इस संयंत्र से निकलने वाले दूषित पानी को फिर से उपयोग करने के लिए रि-सरकुलेशन टैंक भी बनाया गया है। रि-सरकुलेट किये गये पानी को पौधों और सड़कों में छिड़काव के लिए उपयोग किया जाता है। कलेक्टर ने संयंत्र की कार्य प्रक्रिया की व्यवस्था पर संतोष व्यक्त किया और अधिकारियों को बधाई भी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सुर्खियां
capitalchhattisgarh.com